पेरिस हमला मामले में पहले फैसले का इंतजार

खबरें अभी तक। पेरिस हमले के दोषियों को किराए पर अपना फ्लैट देने के मामले में बुधवार को सजा सुनाई जाएगी. फ्रांस में 2015 में हुए आतंकी हमले में 130 लोगों की मौत हो गई थी और इस हमले की जिम्मेदारी इस्लामिक स्टेट ने ली थी.

बता दें कि जावेद बेंदाउद के लिए चार साल की जेल की सजा की मांग की जा रही है. उसके खिलाफ आतंकवाद के कई गंभीर आरोप हटा दिए गए हैं. बता दें कि इस बात के पर्याप्त सबूत नहीं मिले कि आरोपी जानता था कि किराये पर रहने वाले लोग हमलावर हैं.

बता दें कि द्वितीय विश्वयुद्ध के बाद इस निर्दयी हमले के मामले की पहली सुनवाई में फ्रांस की अदालत खचाखच भरी रही.

 ड्रग डीलर 31 वर्षीय बेंदाउद एक टीवी इंटरव्यू के बाद हंसी का पात्र बन गया था, जिसमें उसने कहा था कि उसे इन लोगों के बारे में कुछ भी संदिग्ध नहीं लगा था.

3 जगहों पर हुए थे ब्लास्ट

13 नवंबर 2015 को फ्रांस की राजधानी पेरिस पर हुए एक बड़े आतंकी हमले में करीब 130 लोग मारे गए. इस हमले ने पूरी दुनिया को हिला कर रख दिया था. सबसे बड़ा घातक हमला बैटाकलां आर्ट् सेंटर के पास हुआ था. दूसरा हमला बैटाकलां सेंटर से कुछ ही दूरी पर स्थित एक रेस्त्रां पेटाइट कंबोज के पास हुआ था. तीसरा हमला पेरिस के नेशनल स्टेडियम से सटे एक बार के पास हुआ था. आतंकी संगठन ISIS ने इन हमलों की जिम्मेदारी ली थी.

Add your comment

Your email address will not be published.