राष्ट्र रक्षा महायज्ञ से पहली जल-मिट्टी रथ यात्रा’ निकाली जाएगी

खबरें अभी तक। राष्ट्र रक्षा महायज्ञ के जरिए बीजेपी देश में 2019 से पहले राष्ट्रवाद के जरिए माहौल अपने पक्ष में करने की तैयारी में है. इसके लिए लाल किले के पास यज्ञ होना लेकिन बुधवार को उससे पहले ‘जल-मिट्टी रथ यात्रा’ निकाली जाएगी. इस यज्ञ के लिए 108 यज्ञ कुंडों के निर्माण के काम की शुरूआत होगी. ‘जल-मिट्टी रथ यात्रा’ को केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह इंडिया गेट से आज सुबह 10 बजे हरी झंडी दिखाएंगे. ये रथ यात्रा देश के कोने-कोने में जाकर यज्ञ कुंड के लिए मिट्टी और जल इकट्ठा करेगी. देश के प्रमुख तीर्थ स्थलों, जम्मू-कश्मीर की  सरहद और डोकलाम से भी मिट्टी और जल लाया जाएगा.

देश की सीमाओं पर तैनात हमारे वीर जवानों और उनके त्याग एवं संघर्षों को भावनाओं में रखते हुए ‘राष्ट्र रक्षा महायज्ञ’ का आयोजन किया जा रहा है. इस यज्ञ के उपयोग होने वाली भारत की सीमाओं और चार धाम से जल-मिट्टी के संग्रहण हेतु  ‘जल मिट्टी रथ यात्रा’ निकाली जा रही है.

बता दें कि ‘जल-मिट्टी रथ यात्रा’ के जरिए देश भर से जल-मिट्टी को संग्रहण करके बीजेपी दिल्ली के लाल किले में राष्ट्रीय रक्षा महायज्ञ का आयोजन करेगी.अगले महीने 18 से लेकर 25 मार्च तक चलने वाले राष्ट्रीय रक्षा महायज्ञ के जरिए देवों की देवी, शत्रु विनाशिनी, राज शक्ति प्रदान करने वाली भगवती बगलामुखी का आह्वान किया जाएगा.

108 यज्ञ कुंड का होगा निर्माण

इस यात्रा के जरिए 108 यज्ञ कुंड में 1111 ब्राह्मण 2.25 करोड़ मंत्रों का उच्चारण किया जाएगा. जानकार बताते हैं कि कई वर्षों से इतने बड़े स्तर पर बगलामुखी माता का यज्ञ आयोजित नहीं किया गया. इसके साथ ही बीजेपी देश की राजधानी से 2019 आम चुनाव का बिगुल फूंकने की तैयारी में है.

 पीएम और राष्ट्रपति को भी निमंत्रण

देशभर के साधु-संत इस यज्ञ में हिस्सा लेंगे, साथ ही आम नागरिक से लेकर बिजनेसमैन और नेताओं को भी निमंत्रण दिया गया है. इस यज्ञ के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद को भी आमंत्रित किया गया है.

बीजेपी सांसद बने अगुवा

बीजेपी सांसद महेश गिरी खुद महायज्ञ के आयोजन में जुटे हुए हैं और इसके लिए उन्होंने अपने घर में एक ऑफिस भी बनाया है. महेश गिरी ने कहा, ‘यज्ञ हमारे शत्रु के विनाश के लिए है चाहे वह भीतरी शत्रु हो या बाहरी शत्रु जो भी देश का बुरा चाह रहा है उसका इस यज्ञ से विनाश होगा और देश की जनता इस यज्ञ में हिस्सा लेगी. इन मंत्रों के उच्चारण से देश की सुरक्षा व्यवस्था , महिला सुरक्षा, पर्यावरण रक्षा जैसे संकल्प पूरे होंगे.’

Add your comment

Your email address will not be published.