भारत पर फिर होगा बड़ा आतंकी हमला: US

खबरें अभी तक। अमेरिका के खुफिया विभाग प्रमुख डैन कोट्स ने चेतावनी दी है कि पाकिस्तान नए तरीके के परमाणु हथियार बना रहा है. इसमें कम दूरी तक मार करने वाले परमाणु हथियार शामिल हैं.

इन हथियारों में कम दूरी की सामरिक मिसाइलें, समुद्री क्रूज मिसाइलें, हवाई क्रूज मिसाइलें और लंबी दूरी की बैलेस्टिक मिसाइलें शामिल हैं. उन्होंने कहा कि इन हथियारों से इलाके में अशांति फैलने का खतरा है.

उन्होंने इसके साथ ही कहा है कि भारत में पाकिस्तान की जमीन से होने वाले आतंकी हमले जारी रहेंगे. अमेरिका की ओर से यह चेतावनी जम्मू-कश्मीर के सुंजवां आर्मी कैंप में हुए हमले के एक दिन बाद ही आई है.

भारत के जम्मू-कश्मीर के सुंजवां आर्मी कैंप में सोमवार को जैश-ए-मोहम्मद की ओर से आतंकी हमले को अंजाम दिया गया था. इस हमले में भारत के छह जवान शहीद हुए थे और एक नागरिक की भी मौत हो गई थी.

अमेरिकी खुफिया विभाग की रिपोर्ट इशारा करती है कि भारत और पाकिस्तान के बीच संबंध आने वाले दिनों में भी नहीं सुधरेंगे. सुंजवां आर्मी कैंप में हुए आतंकी हमले के बाद भारतीय रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा था कि पाकिस्तान को इन हरकतों की कीमत चुकानी होगी.

इसके जवाब में पाकिस्तानी रक्षा मंत्री खुर्रम दस्तगीर खान ने कहा है कि इस्लामाबाद किसी भी दुस्साहस पर भारत को उसी की भाषा में जवाब देगा. खान ने कहा, ‘बिना तथ्यों को प्रमाणित किए फौरन पाकिस्तान पर आरोप लगाने के बजाए भारत को पाकिस्तान के खिलाफ सरकार जासूसी कराने पर जवाब देना चाहिए.’

 उन्होंने कहा कि पाकिस्तान की एक-एक इंच जमीन की ढृढ़ता से रक्षा की जाएगी. दस्तगीर ने कहा, ‘किसी भी भारतीय आक्रामकता, रणनीतिक गलत अनुमान या किसी भी दुस्साहस को बर्दाश्त नहीं किया जाएगा और उसका समान और उचित जवाब दिया जाएगा.’

उधर, अमेरिकी खुफिया विभाग के चीफ कोट्स ने सीनेट की सेलेक्ट कमेटी के सामने कहा है, ‘पाकिस्तान में मौजूद आतंकी समूह भारत और अफगानिस्तान में हमले की योजना बनाएंगे और हमले करते रहेंगे. उन्होंने कहा कि इन आतंकी संगठनों को पाकिस्तान में सुरक्षित पनाह मिली है, जिसका वे फायदा उठाना जारी रखेंगे.’ हालांकि, उन्होंने पाकिस्तान के किसी आतंकी संगठन का नाम नहीं लिया.

कोट्स ने कहा है कि पाकिस्तान की खराब आर्थिक स्थिति और कमजोर आतंरिक सुरक्षा की वजह से वह अपने आपको अलग-थलग महसूस करेगा. कोट्स के मुताबिक ऐसा होने की वजह से पाकिस्तान दक्षिण एशिया में अमेरिका के शांति के प्रयासों को असफल करता रहेगा.

कोट्स ने कहा है कि आने वाले दिनों में भारत और पाकिस्तान की सीमा पर हिंसा बढ़ेगी. यही नहीं, पीटीआई की रिपोर्ट के मुताबिक उन्होंने अमेरिकी सांसदों से कहा है कि भारत में बड़ा आतंकी हमला देखने को भी मिल सकता है.

Add your comment

Your email address will not be published.