रंग लाया पर्यावरण संरक्षण मंत्र देश के वनक्षेत्र में हुआ इजाफा

जहां दुनिया के तमाम देशों के वन क्षेत्र का रकबा लगातार कम होता जा रहा है, वहीं विकासशील देश होने के बावजूद भारत ने अपने वन और वृक्ष क्षेत्र में एक फीसद की बढ़ोतरी दर्ज की है। बड़ी आबादी की जरूरतों को पूरा करने के लिए तैयार हो रही विकासीय परियोजनाओं के बावजूद कुल वन और वृक्ष क्षेत्र में 8021 वर्ग किमी का इजाफा अच्छी खबर है।

प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष रूप से अनगिनत लाभ देने वाले इन पेड़-पौधों को बचाने के लिए लगातार चल रहे सरकारी-गैर सरकारी प्रयासों और जागरुकता कार्यक्रमों से ही ऐसा संभव हो सका है। केंद्रीय पर्यावरण मंत्री हर्षवद्र्धन द्वारा सोमवार को जारी द्विवार्षिक इंडिया स्टेट फॉरेस्ट रिपोर्ट 2017 के अनुसार कुल वन क्षेत्र के लिहाज से दुनिया में हम दसवें स्थान पर हैं और सालाना वन क्षेत्र में होने वाली वृद्धि के लिहाज से दुनिया में आठवें पायदान पर मौजूद हैं।

 दुनिया भर में वन का रकबा घट रहा है जबकि भारत में प्रतिकूल हालात के बावजूद वन क्षेत्रफल बढ़ रहा है। अच्छी बात यह है कि वनों के लिहाज से अगर जनसंख्या घनत्व को देखा जाए तो शीर्ष नौ देशों का यह आंकड़ा 150 है जबकि भारत का 350। इसका मतलब एक वर्ग किमी वन में 350 भारतीय रह रहे हैं। आबादी और पशुओं के दबाव के बावजूद भी हमारे संरक्षण और संवद्र्धन के प्रयासों से ये नतीजे संभव हुए हैं।

Add your comment

Your email address will not be published.