मां की मौत के बाद भी नहीं छूटी ममता, आंचल को पकड़ कर सोता रहा 5 साल का मासूम

खबरें अभी तक। यह खबर शायद आपकी आंखों में आंसू ले आए। एक बच्चे के लिए मां क्या होती है? यह शब्दों में बयां नहीं किया जा सकता है। यह एक एहसास है, जिसे केवल महसूस किया जा सकता है। हैदराबाद में मां और बच्चे के प्रेम का एक ऐसा ही अटूट बंधन देखने को मिला, जिसे मौत भी खुद से जुदा नहीं कर पाई। उस्मानिया अस्पताल में भर्ती अपनी मां के बेड पर पांच साल की उम्र का बच्चा बेफ्रिक होकर सो गया, इस बात से अंजान कि अब उसकी मां इस दुनिया में नहीं रही।

36 वर्षीय समीना सुल्ताना को उनके लिवइन पार्टनर ने रविवार शाम को उस्मानिया सरकारी अस्पताल के बाहर फेंक दिया था। उसकी देखभाल करने के लिए अस्पताल में कोई मौजूद तक नहीं था। डॉक्टरों की तमाम कोशिशों के बावजूद हार्ट अटैक से उसकी मौत हो गई। उसके पति अय्यूब ने उसे तीन साल पहले छोड़ दिया था। उसके 5 साल के बच्चे शोएब के चेहरे की मासूमियम देखकर शायद सभी का दिल मुंह को आ जाए। अपनी मां के शरीर से चिपका हुआ शोएब किसी भी सूरत में उसे छोड़ना नहीं चाहता था।

अस्पताल के कर्मचारियों और स्वास्थ्य स्वयंसेवकों के लाख समझाने के बाद कि अब उसकी मां इस दुनिया में नहीं रही, वो न समझा।एक अंग्रेजी अखबार की खबर के मुताबिक, मुजतबा हसन असकरी ऑफ हेल्पिंग हैंड एहसास ने बताया, ‘रविवार को लगभग 11.30 बजे हमें अस्पताल से महिला चिकित्सक के बारे पता चला, जिसकी हालत गंभीर थी, लेकिन उसके साथ कोई भी मौजूद नहीं था। हमारे से वालंटियर इमरान मोहम्मद ने उसे अस्पताल में भर्ती कराया।’ उस महिला का पांच साल का बच्चा उसके बगल में सोता रहा, जब तक उसके मृत शरीर को शवगृह में नहीं भेजा गया।

Add your comment

Your email address will not be published.