जो सचिन-अजहर-वीरू-धोनी नहीं कर पाए, क्या कर पाएंगे कोहली? थोड़ी देर में टॉस

खबरें अभी तक। टीम इंडिया और साउथ अफ्रीका के बीच छह मैचों की वनडे सीरीज का पांचवां मुकाबला पोर्ट एलिजाबेथ के सेंट जॉर्ज पार्क स्टेडियम में खेला जाएगा. चौथे वनडे में हार का सामना करने वाली भारतीय टीम कप्तान विराट कोहली के नेतृत्व में मेजबान को हराकर पहली बार उसके घर में कोई द्विपक्षीय सीरीज जीतने का रिकॉर्ड बनाना चाहेगी.

स्कोरबोर्ड LIVE

भारत ने वनडे सीरीज के पहले तीन मैचों में धमाकेदार जीत दर्ज की, लेकिन चौथे वनडे में साउथ अफ्रीका ने वापसी करते हुए सीरीज को बराबरी पर खत्म करने की अपनी उम्मीदों को बरकरार रखा.

भारत के पास इतिहास रचने का मौका-

पिछले कुछ वर्षो के दौरान वनडे क्रिकेट में साउथ अफ्रीका में भारत का रिकॉर्ड खराब रहा है, लेकिन विराट कोहली की कप्तानी में भारतीय टीम इसे बदल सकती है.

सीरीज में 3-1 की बढ़त बनाने के बाद भारत को अब अफ्रीकी सरजमीं पर पहली वनडे सीरीज जीतने के लिए सिर्फ एक और जीत की जरूरत है. इससे पहले 2010- 11 में महेंद्र सिंह धोनी की कप्तानी में उसने 2-1 से बढ़त बनाई थी, लेकिन सीरीज 3-2 से गंवा दी.

साल 2013-14 के दौरान हुई वनडे सीरीज में भारत को दक्षिण अफ्रीका के हाथों 0-2 से हार झेलनी पड़ी थी.

पोर्ट एलिजाबेथ में इतिहास रचने का डबल चांस-

पोर्ट एलिजाबेथ में टीम इंडिया का रिकॉर्ड बेहद खराब रहा है. ऐसे में टीम इंडिया को सीरीज जीत के साथ-साथ यहां भी इतिहास रचना होगा. 1992-2011 के दौरान यहां टीम इंडिया ने अपने सभी पांचों मैच गंवाए हैं. यहां वह चार मुकाबले साउथ अफ्रीका के खिलाफ हारी है, जबकि एक मैच में केन्या ने मात दी थी.

1. 1992: 6 विकेट से साउथ अफ्रीका ने हराया

2. 1997: 6 विकेट से साउथ अफ्रीका ने हराया

3. 2001: 70 रनों से केन्या ने हराया

4. 2006: 80 रनों से साउथ अफ्रीका ने हराया

5. 2011: 48 रनों से साउथ अफ्रीका ने हराया

 टीम इंडिया-

इस वनडे सीरीज में कप्तान विराट कोहली का प्रदर्शन शानदार रहा है. वह पहले चार वनडे मैचों में 393 रन बना चुके हैं, जिसमें दो शतक भी शामिल हैं. कप्तान के अलावा ओपनिंग बल्लेबाज शिखर धवन भी सीरीज में अच्छी फॉर्म में नजर आए हैं और पांचवें वनडे मैच में वह टीम की महत्वपूर्ण कड़ी साबित हो सकते हैं.

सीरीज के पहले चार वनडे मैचों में ओपनिंग बल्लेबाज रोहित शर्मा ने केवल 40 रन बनाए हैं और कप्तान कोहली पांचवें वनडे में उन्हें मैदान से बाहर रख सकते हैं. दिनेश कार्तिक, मनीष पांडे या केदार जाधव में से किसी को रोहित शर्मा की जगह टीम में मौका दिया जा सकता है.

अफ्रीका के लिए इस सीरीज में टेढ़ी खीर साबित हुए स्पिन गेंदबाज कुलदीप यादव और युजवेंद्र चहल से कप्तान कोहली को पांचवें वनडे में भी बेहतरीन प्रदर्शन करने की उम्मीद होगी.

हालांकि, चौथे वनडे में अफ्रीका के लिए विकेटकीपर बल्लेबाज के तौर पर खेले हेनरिक क्लासेन को भारत के स्पिन गेंदबाजों का सामना करने में ज्यादा मुश्किल नहीं आई थी.

Add your comment

Your email address will not be published.