जम्मू के सुजवां में आतंकियों ने आर्मी क्वार्टर में किया घुसपैठ, सेना का आपरेशन जारी

खबरें अभी तक। जम्मू के सुंजवां आर्मी कैंप में आतंकियों के खिलाफ सेना का ऑपरेशन रविवार की सुबह फिर शुरु हो गया है. कैंप में अभी भी एक से दो आतंकियों के छिपे होने की आशंका है. सुरक्षा बलों ने शनिवार को मारे गए तीन में से 2 दहशतगर्दों के शव बरामद किए हैं. सेना ने आतंकियों को एक फैमिली क्वार्टर में घेर लिया है. इनकी संभावित संख्या 1 से 2 की है.

इससे पहले देर रात तकरीबन 2.30 बजे और 4 बजे के करीब आतंकियों ने सुरक्षा बलों पर फायर किया. इसके बाद आर्मी कमांडो ने जबरदस्त फायरिंग के साथ आतंकियों को जवाब दिया.

दहशतगर्दों के खात्मे के लिए आर्मी ने इलाके की मजबूत घेराबंदी की है, साथ ही सुरक्षा बलों ने इस ऑपरेशन में चार एपीसी (आर्म्ड पर्सनल करियर) वाहन उतारे हैं. बता दें कि सेना ने अब तक 3 आतंकियों को ढेर कर दिया है. पूरे जम्मू कश्मीर में आतंकी हमलों की आशंका के चलते हाई अलर्ट घोषित किया गया है.

शनिवार सुबह से चल रहा है ऑपरेशन

करीब 27 घंटों से ये ऑपरेशन चल रहा है. अब तक सुरक्षाबल कैंप के अंदर रिहायशी इलाके में छिपे तीन आतंकियों को ढेर कर चुके हैं. इनके पास से भारी मात्रा में हथियार बरामद हुआ था. साथ ही पाकिस्तान के आतंकी संगठन जैश-ए-मुहम्मद का झंडा भी मिला है. बताया जा रहा है कि आतंकी सेना की वर्दी में आए थे.

शनिवार सुबह करीब 5 बजे कैंप में आतंकियों का मूवमेंट देखा गया था. आतंकियों ने कैंप में मौजूद जवानों और उनके परिवारों को भी निशाना बनाया. आतंकियों के हमले में सेना के जेसीओ और एनसीओ शहीद हो गए हैं, जबकि फायरिंग में 9 लोगों के घायल होने की खबर है. इनमें 5 महिलाएं और बच्चे शामिल हैं.

सेना अधिकारी ने बताया सूबेदार मदनलाल चौधरी और हवलदार हबीबुल्ला कुरैशी शहीद हो गए. ये दोनों जवान कश्मीर के रहने वाले थे.

 आतंकी हमले के बाद सेना ने मोर्चा संभाला. साथ ही पैरा कमांडो के साथ फौज की स्पेशल टीम को भी आतंकियों के खात्मे के लिए बुला लिया गया. ये आतंकी सुंजवां आर्मी कैंप के फैमिली क्वॉर्टर में छिपे हुए थे, जिसके बाद क्वार्टर खाली कराए गए और सेना ने ऑपरेशन में टैंक का इस्तेमाल किया.

Add your comment

Your email address will not be published.