बच्चे को बंधक बनाए हुए बदमाश के साथ पुलिस कि मुठभेड़, एक बदमाश ढेर

खबरें अभी तक। जीटीबी एंकलेव क्षेत्र से अगवा किए गए पांच साल के बच्चे को छुड़ाने के लिए दिल्ली पुलिस की टीम ने साहिबाबाद क्षेत्र में एक घंटे तक बदमाशों से मुठभेड़ की।गोलियां की तड़तड़ाहट से इलाका गूंज गया। एक बदमाश मारा गया, एक घायल हुआ और एक को पकड़ा गया। हैरत की बात यह है कि गाजियाबाद पुलिस को इसकी भनक भी नहीं लगी।

सुबह तीन बजे दिल्ली पुलिस ने गाजियाबाद पुलिस को सूचना। 12 दिन से अगवा बच्चा गाजियाबाद के घर में बंधक बना रहा और 26 जनवरी के चलते अलर्ट पुलिस को इसका अंदेशा तक नहीं हुआ।दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच के इस ऑपरेशन को खासा पोशीदा रखा। पुलिस ने अपहरणकर्ताओं के साहिबाबाद थाना क्षेत्र की शालीमार सिटी सोसायटी के फ्लैट एबोनी बी 505 चौतरफा घेरा बनाकर मुठभेड़ को अंज़ाम दिया।

बच्चे का अपहरण 25 जनवरी को किया गया था। अपहरण के तीसरे दिन बदमाशों ने परिजनों ने 60 लाख की फिरौती मांगी थी। दिल्ली की क्राइम ब्रांच ने अपहरणकर्ताओं की सटीक लोकेशन मिलने पर रात करीब एक बजे फ्लैट पर धावा बोला।

टीम ने सोसाइटी को घेर लिया और सूचना लीक न हो इसके लिए सुरक्षा गार्ड्स के भी मोबाइल जप्त कर लिए और सभी इंटरकॉम फोन की लाइन काट दी। इसके बाद फ्लैट पर पहुंचकर गेट खटखटाया।इस दौरान दोनों तरफ से फायरिंग शुरू हो गई। फ्लैट में दो अपहरणकर्ता छिपे थे। पुलिस और अपहरणकर्ता के बीच कई राउंड फायरिंग हुई, इसमें तीन गोली फ्लैट के अंदर से चलाई गई जो बी 506 के दीवार में जा लगी।

वहीं दो गोली लोहे वाले ग्रिल में लगी। जब बदमाशों की तरफ से गोली चलना बंद हुई तो पुलिस दरवाजा तोड़कर अंदर घुसी। पुलिस ने देखा कि गोली लगने से बदमाश रवि की मौके पर ही मौत हो गई थी जबकि पंकज घायल था। पुलिस ने फ्लैट के अंदर बेडरूम के एक कोने में बच्चे को छिपाया हुआ था।

Add your comment

Your email address will not be published.